बाज़ार

February 23, 2016 Mukesh Rawat 0

बाज़ार -मुकेश रावत (mukeshrawat705@gmail.com यह दुनिया एक बाज़ार है, हर शख्स एक सौदागर। यहाँ सपने कुचले जाते हैं भावनाऐं नीलाम हो जाती हैं।। हर चीज […]

उत्तराखंड की एक अंतहीन राजनीतिक अस्थिरता

February 8, 2016 Mukesh Rawat 0

जिस राज्य में मुख्यमंत्रीयों का अधिकांश कार्यकाल अपनी ही पार्टी के लोगों से अपनी कुर्सी ऐन-केन-प्राकेण बचाने में लग जाता हो, वहाँ भला क्या उम्मीद […]